Search
Sunday 17 December 2017
  • :
  • :

स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 1165 करोड़ रूपये का प्रावधान: कौल सिंह ठाकुर

Kaul Singh

शिमला: प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं पर इस वर्ष 1165 करोड़ रूपये खर्च किए जा रहे हैं । यह जानकारी आज स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व राजस्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने अन्तर्राष्ट्रीय युवा दिवस अभियान के अवसर पर हिमाचल प्रदेश राज्य एड्स कन्ट्रोल सोसाईटी द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय समारोह के समापन अवसर पर आज यहां गेयटी थियेटर में अपने सम्बोधन में दी ।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार लोगों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है । पिछले एक वर्ष के दौरान 400 से अधिक चिकित्सकों की भर्ती की गई हैं और प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं कोे सुदृढ़ करने के साथ-साथ विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों को स्तरोन्नत किया गया है । प्रदेश में 171 एम्बूलैंस वाहनों के माध्यम से राष्ट्रीय एम्बुलैंस सेवा उपलबध करवाई जा रही है, और शीघ्र ही 123 नई 108 राष्ट्रीय एम्बुलैन्स उपलब्ध करवाई जाएंगी । उन्होंने बताया कि प्रदेश में 352 तरह की जैनरिक दवाईयाॅं तय की गई हैं, जिन्हें स्वास्थ्य संस्थानों के माध्यम से रोगियों को उपलब्ध करवाया जा रहा है ।

कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में अब तक 8 लाख व्यक्तियों ने एच.आई.वी. जाॅंच करवाई है, जिनमें से लगभग 2 लाख से अधिक गर्भवती महिलाएं हैं । उन्होंने कहा कि पिछले एक वर्ष के दौरान 9011 लोगों ने दो एकीकृत परामर्श केन्द्रों एवं जाॅंच वाहनों द्वारा एच.आई.वी. की जाॅंच करवाई है । इस वर्ष प्रदेश में 28 नए एकीकृत परामर्श एवं जाॅंच केन्द्र एवं 116 डलीवरी प्वांइट पर एफ.आई.सी.टी.सी. केन्द्र खोले जाएंगे, जहां मुफ्त एच.आई.वी जाॅंच सुविधा उपलब्ध होगी । उन्होंने कहा कि अभी तक प्रदेश में 45 एकीकृत परामर्श एवं जाॅंच केन्द्र कार्य कर रहे हैं, इसके अतिरिक्त 18 चिकित्सा संस्थानों में मुफ्त एच.आई.वी. जाॅंच सुविधा प्रदान की जा रही है ।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 17 सुरक्षा क्लीनिक स्थापित है, जहां यौन रोगों पर मुफ्त परामर्श, उपचार व दवाईयों की सुविधाएं दी जा रही हैं इस वर्ष प्रदेश में 3 नए सुरक्षा क्लीनिक खोले जाएंगे ।प्रदेश में 3एंटी रेट्रोवायरल थैरेपी केन्द्र इन्दिरा गांधी मैडीकल काॅलेज शिमला, हमीरपुर जिला अस्पताल तथा डाॅ. राजेनद्र प्रसार मैडिकल काॅलेज टाण्डा में कार्यरत हैं ।

इन केन्द्रों में 2609 एड्स ग्रसित व्यक्तियों के लिए मुफ्त एंटी रेट्रोवायरल उपचार व दवाईयाॅ उपलब्ध हैं । इस वर्ष 3 नए एफ.आई. एंटी रेट्रोवायरल थैरेपी केन्द्र जिला अस्पताल मण्डी, ऊना व बिलासपुर में खोले जाएंगे । इस वर्ष हैल्पलाईन नम्बर 1299 का उपयोग कर 1 लाख 80 हजार लोगों ने प्रदेश में इस सुविधा के माध्यम से विभिन्न जानकारियां प्राप्त की हैं।

युवाओं को जागरूक करने के लिए विभिन्न महाविद्यालयों, तकनीकी संस्थाओं में 285 रेड रिबन क्लबों की स्थापना की गई हैं । प्रदेश में अब तक लगभग 3 लाख से अधिक युवाओं ने स्वैच्छिक एच.आई.वी. की जांॅच करवाई हैं । उन्होंने एड्स के प्रति जागरूकता प्रदान करने के उद्देश्य से विभिन्न स्वैच्छिक संस्थाओं, युवा मण्डलों व समाज सेवियों से सहयोग की भी अपील की ।

कौल सिंह ठाकुर ने स्कूल व काॅलेज स्तर पर आयोजित प्रश्नोतरी विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए, जिसमें स्कूल स्तर पर एस.डी. स्कूल शिमला के कपिल देव और अभिषेक ठाकुर को प्रथम पुरस्कार, डी.ए.वी पब्लिक स्कूल लक्कड़ बाजार के हर्ष नेगी और तुशार सुमन को द्वितीय पुरस्कार, आॅकलैण्ड हाउस स्कूल की आयुशी मितल और नेहा कश्यप को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया ।

काॅलेज स्तर पर सैंट बीडस काॅलेज शिमला की श्रेया शर्मा और ऐश्वर्या परमार को प्रथम पुरस्कार, आर.के. एम.वी. शिमला की आरती ठाकुर और निधी चांगरा को द्वितीय व राजकीय महाविद्यायल संजौली के मनोज शर्मा व प्रशांत ठाकुर को तृतीय पुरस्का प्रदान किए ।

इस अवसर पर परियोजना निदेशक, राज्य एड्स नियन्त्रण समिति डा.डी.एस. गुरंग ने मुख्याथिति का स्वागत किया और निदेशक स्वास्थ्य विभाग डा. आर.के. शर्मा ने मुख्यातिथि का आभार व्यक्त किया ।

इस अवसर पर चुडे़श्वर कला मंच सिरमौर द्वारा आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया ।

कार्यक्रम में महापौर नगर निगम शिमला श्री संजय चैहान, उप-महापौर टिकेन्द्र पंवर, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं कृषि विनीत चैधरी, प्रधानाचार्य इन्दिरा गांधी मैडिकल काॅलेज डा. एस.एस. कौशल, वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डा. रमेश चन्द, वरिष्ठ अधिकारी, गणमान्य लोग, स्कूलों के छात्र उपस्थित थे ।



Rahul Bhandari is Editor of TheNewsHimachal and has been part of the digital world for last eight years.